इस साल हज में क्या है खास… जिसके लिए लोग तरसते रह जाते हैं, आज हाजी अराफात जाना…..

हज की सआदत से बैतुल्लाह आने वाले अल्लाह के मेहमान के काफिले मिना के मुक़द्दस मक़ाम पर दिन भर रहने के बाद अब हज के बड़े रुक्न वक़ूफ़ अराफात अदा करने के लिये मैदान अराफात की तरफ रवाना हो रहे हैं इस बार जुमा के दिन हज के बड़ा रुक्न वक़ूफ़ अराफात में क़याम को हज अकबर कहलाता है जिसको ये नसीब होता है वो अपने को खुशकिस्मत समझता है ।

हाजी मैदान अरफात में इबादत तोबा अस्तग़फ़ार और तलबिया बुलन्द के अलावा ज़ुहर और असर की नमाज़ें कसर अदा करेंगे दोनों जमात के साथ नमाज़ के लिये एक ही अज़ान दी जाएगी जबकि नमाज़ के लिये तकबीर अलग अलग अदा की जाएगी । हाजी मैदान अराफात में नौ ज़िल्हिज्जा के मगरिब की नमाज़ तक क़याम के बाद वापस मुज़दलफ़ा जाएंगे।

जहां वो वो मगरिब ईशा की नमाज़ एक साथ अदा करेंगे और रात भर खुले आसमान के नीचे रुकेंगे जिसके बीच वो इबादत और दुवाएं करेंगे उसके बाद हाजी अगले दिन शैतान को कांकरिया मारने का अमल यानी रमी-जमरात करेंगे जिसके बाद वो एहराम खोल देंगे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *