क्या सच में ज्ञानवापी मस्जिद औरंगजेब ने बनवाई थी? वह सच जो छुपाया जा रहा है…

बाबरी मस्जिद की शहादत के बाद मथुरा की ईदगाह और वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद निशाने पर है मीडिया में और सोशल मीडिया में हर जगह यह बताने की कोशिश की जा रही है ज्ञानवापी मस्जिद को औरंगजेब ने बनवाया था । कहते हैं ना किसी झूठ को इतना ज्यादा बोला जाए कि उसके झूठ होने पर शक होने लगे ऐसा ही कुछ ज्ञानवापी मस्जिद के साथ किया जा रहा है।

बार बार बोला जा रहा है ज्ञानवापी मस्जिद को मंदिर तोड़कर बनवाई गई है और उसका आरोप औरंगजेब पर लगाया जाता है जबकि सच्चाई यह है यह मस्जिद मुगलिया सल्तनत के बादशाह जलालुद्दीन अकबर जो 1556 से 1605 तक हुकूमत किए थे यह मस्जिद उस वक़्त भी मौजूद थी और वहां नमाज भी पढ़ी जा रही थी क्योंकि उस वक्त के मशहूर बुज़रुग हजरत मखदूम शाह तैयब बनारसी जिनकी वफात 1591 में हुई जुमा की नमाज उसी में पढ़ते थे।

एक मर्तबा उनके सामने जुमा के खुतबे में खुतबा देने वाले ने बादशाह अकबर का नाम ले लिया जिसकी वजह से उनको बहुत ही बुरा लगा क्योंकि वो अकबर को मुस्लिम नही समझते थे उन्होंने खुतबा देने वाले को मेंबर से उतारना चाहा लेकिन वहां एक दूसरे बुजुर्ग मौलाना ख्वाजा कला जिन की वफात 1595 में हुई वहां मौजूद थे उन्होंने उनको ऐसे करने से रोक दिया ।

अगर अकबर बादशाह को खबर लगी तो घरों को तबाह बर्बाद कर देगा इसलिए यहां के बजाय मुंडवादीह में नमाज अदा कर लिया जाए। इसलिए यह दावा करना कि यह मस्जिद औरंगजेब ने बनवाई थी बिल्कुल झूठी बात है । कुछ लोग इस मस्जिद के नाम पर एतेराज़ करते हैं उसका सीधा सा जवाब है इसका नाम ज्ञानवापी मस्जिद इस वजह से पड़ा की की जहां पर मस्जिद मौजूद है उस मोहल्ले का नाम ज्ञानवापी था और है ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *