उदयपुर घटना से पहले हुई उस क्रूरता को आज भी नही भूलें हैं लोग, जब लाइव आकर ज़िंदा….

उदयपुर राजस्थान

उदयपुर मे कन्हैयालाल हत्याकाण्ड जिसमे 2 सिरफिरे युवको ने गला रेत कर हत्या कर दी और सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल कर हत्याकाण्ड की ज़िम्मेदारी कबूल की,कन्हैया की पोस्टमार्टम रिपोर्ट खुलासा हुवा की उस पर कुल 26 वार किये गये थे जिसमे 13 कटने के निशान है,लेकिन क्या धर्म के नाम पर उदयपुर मे यह पहला कत्ल है तो जवाब है नही।

शम्भूलाल रैगर फाइल फोटो

साल 2017 मे उदयपुर के राजसमंद इलाके मे ही धर्म के नशे मे चूर शंभूलाल रैगर नामक एक और दरिंदे ने अफराजुल शेख नामक एक अधेड़ व्यक्ति को कथित लव जिहाद के नाम पर ज़िन्दा जला कर मार दिया था,और इस पूरी घटना को शंभू ने फेसबुक पर लाइव दिखाया था,उस समय राजस्थान मे भाजपा की वसुंधरा राजे सरकार थी,और राजस्थान समेत देश भर मे धर्म के नाम पर मोब लिंचिंग और हत्याओ का दौर अपने चरम पर था,हालात ये थे कि जब अफराजुल शेख के हत्यारे को पुलिस ने गिरफ्तार किया तो बहुत से हिन्दू संगठनो ने हत्यारे के समर्थन मे न सिर्फ रैली निकाली बल्कि न्यायालय के गेट पर भगवा झण्डा फहराने जैसा दुस्साहस भी किया था।

हत्या की वारदात से कुछ दिन पहले शंभू ने कई वीडियो बनाए, जिसमें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लव जिहाद, इस्लाम, हिंदुत्व, कश्मीर जैसे कई मुद्दों का जिक्र किया गया था. लाइव मर्डर के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होते ही देश और विदेशों में भी कई तरह की प्रतिक्रियाएं सामने आईं. हत्या के बाद राजसमंद शहर के साथ ही उदयपुर में भी साम्प्रदायिक माहौल खराब हुआ।
इसके तहत राजसमंद व उदयपुर में भी इंटरनेट सेवा बंद की और धारा 144 लागू करनी पड़ी. इसको लेकर भी उदयपुर व राजसमंद जिले में कई मामले दर्ज किए गए. इस हत्याकांड की आग राजसमंद के अलावा उदयपुर, चित्तौड़गढ़, भीलवाड़ा और अन्य जिलों तक भी पहुंची थी. फिलहाल आरोपी जोधपुर सेंट्रल जेल में बंद है. पुलिस की ओर से 413 पेज की चार्जशीट न्यायालय में पेश की गई थी, जिसमें अफराजुल की हत्या को लेकर पुलिस की ओर से जुटाए गए 68 साक्ष्य भी शामिल किए।

हैरत की बात यह है जोधपुर सेंट्रल जेल में बंद शंभूलाल रैगर ने सोशल मीडिया पर दो हेट विडियो अपलोड किए थे, जोधपुर सेंट्रल जेल के अंदर से फिल्माए विडियो में रैगर को कहते देखा जा रहा है – ‘मैंने जो किया, उसका मुझे अफसोस नहीं है. मुझे अपनी जान की परवाह नहीं है, लेकिन जिहाद देश के लिए खतरा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *