झूठे इंसान की ऊंची आवाज सच्चे इंसान को खामोश तो करा देती है, लेकिन उसकी की ख़ामोशी उसकी…

वक्त एक ऐसा मरहम है जो तुम्हारे जख्मों की तकलीफ को कम करता है खतम नहीं करता वह तो तुम्हें खुद करना है। अक्सर जिंदगी हमें उन्हीं लोगों के हाथों तोड़ती है जिन्होंने हम अपना मजबूत सहारा समझते हैं, दिल बड़ा करो बातें तो हर कोई बड़ी करता है।

मर्द को औरत के किरदार की जितनी फिक्र होती है इतनी फिकर अगर अपने किरदार की करें तो कितनी औरतें बाद किरदार कहलाने से बच जाएं, गुस्से के वक्त बर्दाश्त का एक लम्हा तुम्हें हजार दफा शर्मिंदा होने से बचा सकता है।

छोटे इंसान की ऊंची आवाज सच्चे इंसान को खामोश करा देती है लेकिन सच्चे इंसान की ख़ामोशी छोटे इंसान की बुनियाद हिला देती है, वो अपनी बहन को पर्दे की फजीलत बयान करते हुए महबूबा को मैसेज कर रहा था तुम खुले बालों में कमाल लगती हो,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *