ISIS के हमले में तबाह हो गया था काबुल का बड़ा गुरुद्वारा,अब तालिबान सरकार ने सिखों को…

 

तालिबान शासित अफगानिस्तान में 2 महीने पहले ISIS के आतंकी हमले मे गुरुद्वारे को नुकसान हुवा था,और इमारत क्षतिग्रस्त हो गई थी,हमले को तो तालिबान के फौज ने नाकाम कर दिया था लेकिन कुछ देर बाद घटना स्थल पर खड़ी गाड़ी मे धामाका हुवा जिसकी वजह से गुरुद्वारा को नुकसान पहुँचा था,जिसके बाद लगभग 74 सिखों ने काबुल छोड़ भारत मे शरण ले ली थी।

गौर तलब रहे की हमले मे क्षतिग्रस्त हुवी इमारत को ठीक करने के लिये तालिबान शासन की तरफ से फंड मुहैया कराया गया है,हिंदू सिख सोसाइटी के के प्रमुख राम सरन भसीन ने बताया कि सरकारी इंजीनियर की टीम ने क्षतिग्रस्त गुरुद्वारा का निरक्षण किया था,और नुकसान का मूल्यांकन करने के बाद इमारत को ठीक कराने के लिये सरकार ने फंड मुहैया कराया है,उन्होने कहा कि तालिबान सरकार ने लगभग 40 लाख रुपये की मदद की है।

राम सरन ने बताया की 18 जून को हुवे हमले के समय वो और दूसरे सिखो के साथ गुरुद्वारा जा रहे थे जिन्हे तालिबान की फौज ने सुरक्षित बचा लिया और हमले को नाकाम कर दिया,ज्ञात रहे इस हमले मे 2 लोगो की मौत हो गई थी जबकि गुरुद्वारा मे आग लग गई थी दमकल की गाड़ियों ने आग पर काबू पाया लेकिन उस से पहले तालिबान आर्मी के जवानो ने गुरु ग्रंथ साहब को सुरक्षित बाहर निकाल पास के ही एक सिख के घर मे सुरक्षित रख दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *