कोर्ट ने मुस्लिम के पक्ष में सुनाया था फैसला,लेकिन हिन्दू एवं सिखों के दबावो में…

 

यमुनानगर के जठलाना इलाके मे गुरुद्वारा कमेटी और वक़्फ बोर्ड के बीच चल रहे जमीन के मालिकाना हक विवाद मे फैसला आचुका है,जहाँ अदालत ने गुरुद्वारा वाली ज़मीन पर वक़्फ बोर्ड के मालिकाना हक को तस्लीम करते हुवे प्रशासन को आदेश दिया है कि उसे कब्ज़ा मुक्त करा कर वक़्फ बोर्ड को सौंपे,लेकिन इस फैसले के बाद माहौल तनावपूर्ण हो गया है,आस पास के गांव की भीड़ धीरे धीरे गुरुद्वारे मे जमा होने लगी,जिसकी वजह से प्रशासन ने अपने पैर पीछे खींच लिये है।

शुक्रवार को कोर्ट के आदेश के बाद गुरुद्वारा की जमीन को कब्जा मुक्त करा मुस्लिम समाज को सौंपा जाना था। इसके लिए प्रशासन की तरफ से तैयारी की जा रही थी, लेकिन गुरुद्वारा में जुटी भीड़ के बाद प्रशासन पीछे हट गया, गुरुद्वारा कमेटी ने वक्फ बोर्ड को इतनी ही जमीन दूसरी जगह पर देने का प्रस्ताव रखा है, जिस पर अभी दोनो पक्षों के बीच बात चल रही है,हालांकि इस से पहले भी विवाद को निपटाने के लिए कई बार पंचायतें हुई है लेकिन कोई हल नहीं निकल सका ,प्रशासन की तरफ से भी कोर्ट के आदेश की पालना कराने को लेकर गुरुद्वारा प्रबंधन को निर्देश दिए गए थे कि शुक्रवार तक इसे खाली करा दिया जाए।

गौर तलब रहे कि 1947 के बाद वक़्फ बोर्ड की खाली पड़ी ज़मीन पर गुरुद्वारा बनाया गया था जिस की जानकारी होने के बाद वक़्फ बोर्ड ने अदालत मे याचिका दाखिल की थी और ज़मीन के मालिकाना हक से जुड़े प्रमाण पेश किये थे,कोर्ट ने दोनो पक्षो की सुनने के बाद मुस्लिम पक्ष के हक मे फैसला किया है,लेकिन इसके बावजूद गुरुद्वारा कमेटी,और स्थानीय संस्था हिंदू समाज रक्षक इस बात पर अड़े हुवे है कि मुस्लिम पक्ष को दूसरी जगह पर ज़मीन दी जाये,फिलहाल प्रशासन भी इस मामले मे पीछे हटता दिखाई दे रहा है,ज्ञात रहे कि हरियाणा राज्य मे वक़्फ की सम्पत्तियों पर गुरुद्वारे और मन्दिर के कई मामले अब तक सामने आये है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *