टोपी पहनकर मस्जिद में मांस फेंकने वाला महेश को लेकर हुआ बड़ा खुलासा, वो हिंदुओ को….

अयोध्या नगरी को ईद के मौके पर जलाने की विफल साजिश को लेकर पुलिस ने एक बड़ा खुलासा किया है पुलिस को पता चला है कि इस साजिश का मुख्य आरोपी महेश मिश्रा हिंदू युवा संगठन बनाकर अयोध्या के लड़कों को जोड़ रहा था वह गुरुवार को किसी ने किसी मोहल्ले में जाकर हनुमान चालीसा का पाठ भी करता था।

आपको बता दें पुलिस के अनुसार इसका संबंध राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, और बजरंग दल, से भी जुड़ा रहा है। इसके अलावा एक कई संगठनों में पदाधिकारी भी रहा है। उसके भाई ने खुलासा किया है दिल्ली और खरगोन में हुई सांप्रदायिक घटनाओं को हिंदू समुदाय के ऊपर कथित अत्याचार को लेकर बातें करता था।

आपको बता दें यह मामला 27 अप्रैल की रात का है अध्याय पुलिस ने इस मामले में 23 अप्रैल को 7 लोगों को गिरफ्तार किया पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने शहर में कई जगहों पर मस्जिद के सामने आपत्तिजनक सामान और धार्मिक किताबों के कुछ पन्ने डालकर दंगा फैलाने की कोशिश की इस साजिश का पता सीसीटीवी फुटेज के जरिए लगा।

पुलिस ने जब सीसीटीवी फुटेज को खंगाला जिसमें 4 बाइक और कुल 11 लोग दिखाई दिए बताया उसमें एक आदमी बाइक से उतर कर विवादित सामग्री फेकता दिखाई दे रहा है आरोपियों ने पहचान छुपाने के लिए मुस्लिम समुदाय के लोगों द्वारा पहने जाने वाली धार्मिक टोपी लगा रखी थी रिपोर्ट के अनुसार आरोपियों ने बाइक की नंबर प्लेट भी बदले हुए थे।

उनकी गिरफ्तारी उस वक्त संभव हुई जब पुलिस ने टोपी बेचने वाले दुकानदारों से पूछताछ की पहले दो लोगों को पकड़ा उसके बाद बाकी लोगों को भी गिरफ्तार किया गया पुलिस का कहना है आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून भी लगाया जा सकता है । पुलिस के अनुसार इस साजिश का मास्टरमाइंड महेश कुमार मिश्रा है उसने बृजेश पांडे नाम के व्यक्ति के घर में साजिश रची थी सभी आरोपी अयोध्या के रहने वाले हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *