हज़ार साल पुरानी मिली क़बर, खुली तो निकली ऐसी चीज़ देखने वाले हो गए बेहोश…

यह दुनिया ऐसी जगह है जहां हर आदमी को एक न एक दिन मर’ना है लेकिन आदमी जिंदगी ऐसी गुजारता है जैसे मौ’त सिर्फ दूसरों के लिए आई है उसको नहीं आएगी कुरान में अल्लाह फरमाता है हर जानदार को मौ’त का मज़ा चखना है आज जो दुनिया में ऐश की जिंदगी गुजार रहे हैं कल उनको क’ब्र के अंधेरे में भी जाना है यूं तो कुदरत की कई निशानियां सामने आती रहती हैं लेकिन कुछ निशानियां ऐसी होती हैं जो चर्चा का विषय बन जाती है।

अंतरराष्ट्रीय मीडिया रिपोर्ट के अनुसार दरिया ए नील के करीब एक पुराने कब्रिस्तान में एक ऐसी क़बर मिली जब उसे खोला गया तो उसमें से ऐसी लाश मिली जिसको देख कर ऐसा लग रहा है जैसे नोच नोच कर गोश्त उतार लिया गया हो जानकार का कहना है कि लगता है ये उस दौर की क़बर है जिस दौर में इंसानी गोश्त को बड़ी शौक से खाया जाता रहा होगा ऐसे इतिहास में इंसानी गोश्त खाने की कई मिसाले सामने आती हैं।

लेकिन दरिया ए नील के करीब से मिलने वाली क़बर अपने एतबार से बिल्कुल अलग है आपको बता दें इसी जगह से इस जैसी 124 क़बर और भी मिली है असल ये क़बर किस दौर की है यह नहीं पता चल सका है कई अखबारों में यह खबर वायरल हो रही है ये मामला अक्टूबर का है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *